VT News India

किसान के समर्थन में उतरे सपा और काग्रेस, लिये गये हिरासत में

VT News

वाराणसी। किसान बिल को वापस लेने के विरोध में किसानों का भारत बंद का मिला-जुला असर दिखाई दिया। वाराणसी में कहीं लोगों ने खुद दुकानें बंद रखीं तो कहीं पर बंद कराई गईं। नॉर्दर्न रेलवे मेंस यूनियन ने भारत बन्द को समर्थन दिया वही काग्रेस और सपा समेत अन्य दलों ने भी किसान के समर्थन में सड़को उतरे और किसान बिल का विरोध किया। वही भारत बंद को लेकर प्रशासन भी पुरी तरह से डटी रही। कई नेताओं को उनके घरों पर ही नजरबंद कर दिया गया तो सपा, कांग्रेस और किसान मजदूर सभा के कार्यकर्त्ताओं ने धरना-प्रदर्शन करने का प्रयास किया तो पुलिस ने उन्हें तत्काल मौके से हिरासत में लेकर थाने में बैठा दिया। विरोध प्रदर्शन के दौरान लंका, रोहनिया, सुंदरपुर, साकेत नगर और कचहरी पर पुलिस और सपा कार्यकर्ताओं के बीच हल्की नोकझोंक भी हुई। सपा के पूर्व मंत्री सुरेंद्र सिंह पटेल के साथ ही पूर्व विधायक, जिला अध्यक्ष और पार्षद सहित तमाम छोटे-बड़े नेताओं को उनके घरों में ही नजरबंद कर दिया गया है। सपा के वरिष्ठ नेता मनोज राय धूपचंडी को उनके घरों पर ही नजरबंद किया गया है। मैदागिन स्थित कम्पनी गार्डेन के सामने सड़क पर एकत्रित होकर जुलूस निकालने का प्रयास के रहे नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पूर्वांचल की सबसे बड़ी मंडी विशेश्वरगंज किराना मंडी में बंद का असर नही दिखा। सभी दुकानें खुली हुई है। हालांकि बाहरी कस्टमर नहीं पहुंचे। सिर्फ लोकल कस्टमर समान की खरीदारी करते रहे। वही कैंट पर किसान बिल को लेकर यूनियन ने विरोध भी जताया। बड़ी संख्या में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के नेताओं को गिरफ्तार किया गया।

.page-template-agents .penci-wide-content{ max-width: calc(100% - 300px); }