VT News India
National

अब तक 103 करोड़ दान कर चुके हैं PM मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सार्वजनिक कार्यों के लिए अबतक 103 करोड़ रुपये दान कर चुके हैं। जिसमें बालिका शिक्षा से लेकर गंगा की सफाई और कोरोना से लड़ाई के लिए बने पीएम केयर्स फंड (PM CARES Fund) भी शामिल है। जानकारी के अनुसार, दान की गई रकम पीएम मोदी ने अपनी बचत और उन्हें मिले उपहारों की नीलामी से इकट्ठा की थी।

प्रधानमंत्री ने हाल ही में पीएम केयर्स फंड के लिए 2.25 लाख रुपये दान किया है। कोरोना महामारी से लड़ने के लिए जब पीएम केयर्स की स्थापना की गई थी, तब पीएम मोदी ने शुरुआती फंड के तहत 2.25 लाख रुपये का योगदान दिया था। मार्च में स्थापित किए गए इस फंड के गठन के सिर्फ पांच दिनों में ही इसमें 3,076.62 करोड़ रुपये जमा हो गए थे।

2019 में पीएम मोदी ने कुंभ मेले में स्वच्छता कर्मचारियों के कल्याण के लिए बनाए गए फंड में अपने निजी बचत से 21 लाख रुपये का दान किए थे।

दान की सोल पीस प्राइज़ की राशि

2019 में ही पीएम मोदी को साउथ कोरिया में सोल पीस प्राइज़ (Seoul Peace Prize) दिया गया था तब उन्होंने इसके साथ मिली 1.3 करोड़ की राशि को क्लीन गंगा मिशन में दान करने की घोषणा की थी।हाल ही में प्रधानमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान उनको मिली स्मृति चिन्हों की नीलामी में 3.40 करोड़ रुपये एकत्र किए गए थे। जिसे नमामि गंगे (Namami Gange project) में भी दान किया जा रहा है।प्रधानमंत्री मोदी ने 2015 में मिले उपहारों की नीलामी फिर से शुरू की थी। सूरत में आयोजित एक नीलामी के दौरान 8.35 करोड़ रुपये जुटाए गए थे, जो नमामि गंगे मिशन में चली गई थी।

2014 में प्रधानमंत्री के रूप में पदभार संभालने से पहले उन्होंने गुजरात सरकार के कर्मचारियों की बेटियों की पढ़ाई के लिए अपने निजी बचत से 21 लाख का दान दिया था।

सीएम कार्यकाल के दौरान उपहारों की नीलामी

उन्होंने गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान मिले सभी उपहारों की नीलामी कर दी था, जिसमें मिले 89.96 करोड़ रुपये को कन्या केलावनी फंड में दे दिया था।

Related posts

बाढ़ राहत के लिए वित्तीय सहायता पर चन्द्रशेखर राव ने किया तमिलनाडु सीएम का धन्यवाद

Vt News

डाक विभाग द्वारा राखी भेजने हेतु वाटरप्रूफ डिजायनर लिफाफे, मूल्य 10 रूपये

Vt News

त्रिवेंद्र रावत के इस्‍तीफे के पीछे क्या रही वजह, यहां देखें तीन कारण

VT News