VT News India
National

अंबाला एयरबेस पर कल वायुसेना में विधिवत शामिल होंगे पांच राफेल विमान, राजनाथ सिंह पहुंचेंगे

अंबाला। भारतीय वायुसेना में कल अब राफेल विमान विधिवत शामिल किया जाएगा। फ्रांस से आए पांचों राफेल विमानों काे 10 सितंबर को भारतीय वायुसेना में विधिवत रूप से शामिल किया जाएगा। रक्षामंत्री राजनाथ सिह इन राफेल  को वायुसेेना में औपचारिक रूप से शामिल कराएंगे। इन पांचों विमानों को 29 जुलाई अंबाला एयरबेस पर लाया जाएगा। ये विमान फ्रांस से अंबाला एयरबेस पर लाए गए थे।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, राज्यपाल, सीएम और वायु सेना के अफसर रहेंगे मौजूद

राफेल विमानों को वायुसेना में शामिल किए जाने के लिए अंबाला एयरबेस पर एक औपचारिक समारोह का आयोजन किया जा जाएगा। इस समारोह में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के अलावा हरियाणा के राज्यपाल सत्‍यदेव नारायण आर्य और प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी मौजूद रहेंगे। इसके साथ ही इस समारोह‍ में एयरफोर्स के वरिष्‍ठ अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। वायुसेना के प्रधान भी समारोह में मौजूद रहने की उम्‍मीद है।

इससे पहले मंगलवार को भी यहां अंबाला छावनी में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के दाैरान राफेल विमानों को प्रदर्शित किया गया। इन्‍हें वायुसेना के अधिकारियों और उनके परिवार के सदस्‍यों ने देखा। इस मौके पर 10 सितंबर को होने वाले समारोह के लिए एयरफोर्स स्टेशन में रिहर्सल भी किया गया।

10‍ सितंबर को होनेवाले समारोह के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जा रहे हैं। बुधवार को ही अंबाला एयरफोर्स स्‍टेशन के आसपास के क्षेत्र में सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर दिए गए हैं। दूसरी तरफ सुरक्षा के मद्देनजर वायुसेना स्टेशन के अंदर चल रहे प्रोजेक्ट पर रोक लगा दी गई है। पूरे एयरफोर्स स्‍टेशन के बाहर और पूरे क्षेत्र में पुलिस पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है।

राफेल लडा़कू विमानों की सुरक्षा के लिए भी एयरफोर्स के आसपास के क्षेत्र कई कदम उठाए गए हैं। एयरफोर्स स्‍टेशन के बाहर स्थित घरों की छतों पर पक्षियों को दाना देने से लोगों को मना किया गया है। इसके साथ की कबूरतबाजी पर रोक लगा दी गई है। इसके साथ ही मीट की दुकानों पर भी रोक लगा दी गई है।कार्यक्रम में फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ले, वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया, केंद्रीय मंत्री रतनलाल कटारिया, हरियाणा गृह मंत्री अनिल विज भी शामिल होंगे। इसी कार्यक्रम को लेकर बुधवार को राफेल विमान के साथ पायलटों ने उड़ान भरी। इसके अलावा सुखोई जहाज भी इस शो में हिस्सा ले सकते हैं। राफेल आसमान में अपनी ताकत का प्रदर्शन भी करेगा।

उल्लेखनीय है कि राफेल की पहली स्कवाड्रन अंबाला में तैनात होगी। दूसरी स्कवाड्रन पश्चित बंगाल के हाशिमारा एयरबेस पर तैनात की जाएगी। अंबाला में यह 17 गोल्डन एरो स्कवाड्रन का हिस्सा बनेगा। अंबाला वायुसेना स्टेशन पर रक्षा मंत्री व अन्य सुबह दस बजे पहुंच जाएंगे, जबकि दोपहर बाद तीन बजे मीडिया से बातचीत करेंगे। बृहस्पतिवार को हाेने वाले कार्यक्रम को लेकर वायुसेना स्टेशन पर तैयारियां तेज कर दी गई हैं। वायुसेना स्टेशन के बाहर ट्राइ कलर के झंडों से सजाया गया है।

इसके अलावा वायुसेना स्टेशन रोड पर बैरिकेडिंग भी की गई है। इन बैरिकेट्स पर सेना के जवान तैनात हैं। इसी तरह आर्मी एक्शन ग्रुप की टीमें भी गश्त कर रही हैं। दूसरी ओर इस कार्यक्रम में प्रशासन के अधिकारी भी शामिल होंगे, जबकि सुरक्षा कारणों से मोबाइल भीतर ले जाने की इजाजत नहीं रहेगी। इसी कार्यक्रम में एयर शो का आयोजन भी किया जाएगा। इस एयर शो में राफेल जहां भाग लेंगे, वहीं अन्य लड़ाकू जहाज भी इस में शामिल हो सकते हैं। वायुसेना स्टेशन में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा  दिया गया है, जबकि चल रहे प्रोजेक्टों को रोक दिया गया है।

Related posts

एक बार फिर केंद्र सरकार किसान संगठनों के साथ करेगी वार्ता

VT News

करवा चौथ : सुहागिनों का अखंड सौभाग्य, रात 7:52 बजे के बाद चंद्रमा को दें अर्घ्‍य

VT News

येदियुरप्पा: बेंगलुरु में एक सप्ताह के लॉकडाउन को आगे बढ़ाने की कोई योजना नहीं

Vt News