VT News India
Others

बी जे पी जिला अध्यक्ष केपी सिह ने किया गँगा किनारे पौधरोपण

भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के संयोजन में,
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के जन्मदिन के परिपेक्ष में सेवा सप्ताह के अंतर्गत वृक्षारोपण कार्यक्रम जनपद के 70 ग्राम स्तर स्थानों पर हुआ उसी क्रम में सोरों के गंगाजी लहरा घाट पर किसान मोर्चा के जिला मंत्री अरुण सक्सेना जी की अध्यक्षता में
भाजपा जिलाध्यक्ष के पी सिंह सोलंकी जी ने वृक्षों की श्रंखला लगाकर
धरा को हरा-भरा करने का संकल्प व्यक्त किया…
जिलाध्यक्ष के पी सिंह जी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन कार्यकर्ता भाजपा संगठन सेवा सप्ताह के रूप में पिछले दिनों से मना रही है आज देशभर में प्रधानमंत्री जी को समर्पित भाजपा किसान मोर्चा के संयोजन में गांव गांव वृक्षों को लगाकर पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ प्रकृति की सुंदरता का प्रतिबिंब भी स्थापित होगा उन्होंने कहा यह देश सनातन संस्कृति के संरक्षण उसकी विचार को पल्लवित करने वाला देश है वृक्षों को धरा पर लगाना सनातन संस्कृति एवं प्रकृति का महत्व को स्थापित करने का क्रम है देशभर में लाखों वृक्ष लाखों गांव में प्रधानमंत्री जी को समर्पित वृक्षारोपण कर रहे हैं यही वृक्ष भविष्य में पल्लवित होकर प्रकृति को संरक्षितता प्रदान करेंगे लाखों नागरिकों को ऑक्सीजन देकर जीवन दान देंगे लाखों पशु पक्षी जीव जंतुओं को संरक्षित करेंगे यह पुनीत कार्य एवं ईश्वरीय कार्य वास्तव में भाजपा के देव तुल्य कार्यकर्ताओं के हाथों से हो रहा है हमारी संस्कृति सभी के कल्याण का प्रथम भाव रखकर पूजने वाली संस्कृति है उस संस्कृति में वृक्षों की महत्वपूर्ण भूमिका है क्योंकि हमारी संस्कृति में वृक्षों की पूजा होती है उन्हें देवता के समान माना जाता है इस कारण वृक्षारोपण ईश्वरी कार्य है उन्होंने कार्यकर्ताओं से आह्वान कर कहा सभी कार्यकर्ता वृक्षों का संरक्षण करें संवर्धन करें उन्हें पल्लवित करें उनका एक धर्म है और यह संगठन का ईश्वरी कार्य भी है…
कार्यक्रम मे कार्यक्रम संयोजक अरुण सक्सेना जिला महामंत्री संजय सोलंकी,रामेश्वर दयाल महे रे जिला मंत्री रविंद्र ब्रह्मचारी जिला उपाध्यक्ष रामगोविंद महेरे
जिला मंत्री कृष्णकांत वशिष्ठ, नगर अध्यक्ष संजय दुबे, सभासद नरेश चौहान बूथअध्यक्ष रन सिंह चौहान हेमेंद्र शास्त्री,
युवा मोर्चा अध्यक्ष बृजेश उपाध्याय
महामंत्री कुलदीप प्रतिहार, आदित्य काकोरिया, गौरी शंकर मौर्य, श्रीकांत तिवारी, यतींद्र शास्त्री
मयंक सक्सेना, निशांत शर्मा पंकज तिवारी विष्णु शर्मा राहुल वशिष्ठ, अवधेश यादव सभासद महेंद्र कश्यप नंदकिशोर शर्मा राजीव चौहान आदि भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे.रिपोट कपिल दीक्षित कासगंज

Related posts

शिवराज को मारीच कंस और शकुनि मामा से भी बड़ा चालबाज बताने पर आचार्य प्रमोद कृष्णम को चुनाव आयोग का नोटिस 48 घंटे के भीतर माँगा स्पस्टीकरण

Vt News

मोदी संग कश्मीरी नेताओं की बैठक, कांग्रेसी आचार्य ने किया स्वागत लखनऊ – रिपोर्ट, कपिल दीक्षित व्यूरोचीफ vt news जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने के करीब दो साल बाद आज पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य के आठ राजनीतिक दलों के 14 नेताओं के साथ बैठक की। यह बैठक करीब साढ़े तीन घंटे तक चली और इस दौरान कई मुद्दों पर चर्चा की गई। जम्मू कश्मीर राज्य के सभी दलों के नेताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वार्ता के लिए आमंत्रित किया. पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, गुलाम नवी आज़ाद सहित लगभग सभी नेताओं ने मुलाक़ात की. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि बैठक में हमने कांग्रेस की तरफ से सरकार के सामने 5 बड़ी मांगे सरकार के सामने रखी। पहली मांग थी कि राज्य का दर्जा जल्दी बहाल करे सरकार। उन्होंने कहा कि हमने बैठक में कश्मीरी पंडितों को घाटी में बसाने की बात भी बोली। केंद्र सरकार जल्द से जम्मू-कश्मीर में चुनाव करवाएं। बैठक में अधिकतर पार्टियों ने कहा कि 370 का मामला सुप्रीम कोर्ट में है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री ने कहा कि सरकार जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा देने के लिए प्रतिबद्ध है। सभी नेताओं ने पूर्ण राज्य की मांग की है। इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री से वार्ता का किसी कश्मीरी नेता अथवा पार्टी के द्वारा कोई विरोध नहीं किया गया. इस मुलाक़ात के बाद कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने भी ट्वीट कर स्वागत किया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि राष्ट्र राजनीति से बढ़ा होता है. हालांकि कांग्रेस पार्टी के बाकी नेता इस मुद्दे पर खामोश ही नज़र आये. पीडीपी (पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी) के नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने कहा कि बैठक बहुत शानदार हुई। उन्होंने कहा कि 370 का मामला सु्प्रीम कोर्ट में है और अदालत ही 370 के मामले पर फैसला करेगी। मैंने धारा 370 कि कोई मांग नहीं रखी। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि 370 खत्म करने का फैसला जम्मू-कश्मीर विधानसभा के द्वारा होता तो और अच्छा होता। जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा दिलाने की मांग सभी दलों ने की। पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने पर सीधे कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा कि पहले परिसीमन हो। सही मायनों में अब धारा 370 हटाना कोई मुद्दा नहीं बचा जब कश्मीर के सभी नेताओं ने केंद्र के साथ बैठकर चर्चा की एवं राज्य के विकास और पूर्ण राज्य के दर्जे की मांग की.

Vt News

नव वर्ष पर अधिवक्ता आदित्य त्रिपाठी व संयुक्त मंत्री अधिवक्ता चन्द्र किशोर मिश्रा के चैम्बर पर एम एल सी अरुण पाठक हुये युवा अधिवक्ताओ से रूबरू

Vt News