VT News India
Crime Varanasi

चौकाघाट दोहरे हत्याकांड में शामिल 25 हजार का इनामिया रवि प्रताप गिरफ्तार

वाराणसी । चौकाघाट दोहरे हत्याकाण्ड में शामिल अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक, पुलिस अधीक्षक नगर व पुलिस अधीक्षक अपराध के निर्देशन में व क्षेत्राधिकारी चेतगंज के नेतृत्व में क्राइम ब्रान्च व थाना जैतपुरा की संयुक्त टीम गठित की गयी थी। सनसनीखेज घटना में शामिल अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए सोमवार को प्रभारी निरीक्षक जैतपुरा शशिभूषण राय मय टीम और प्रभारी क्राइम ब्रान्च अश्वनी पाण्डेय मय टीम चौकाघाट पर आपस में विचार विमर्श कर रहे थे। इतने में मुखबिर से सूचना मिली कि चौकाघाट दोहरे हत्याकाण्ड में शामिल अभियुक्त रवि प्रताप सिंह पुत्र अवधेश सिंह निवासी जियासड़ थाना मेहनगर जनपद आजमगढ, जिस पर 25000 रुपये का इनाम घोषित है, अपने वर्तमान निवास स्थान अशोक विहार कालोनी फेज-1 थाना जैतपुरा जनपद वाराणसी पर मौजूद है।इस सूचना पर विश्वास कर मकान को चारों तरफ से घेर कर आवश्यक बल प्रयोग कर उक्त व्यक्ति को पकड़ लिया गया। पकड़े गए व्यक्ति से नाम पता पूछा गया तो उसने अपना नाम रवि प्रताप सिंह उपरोक्त बताया जिसकी जामा तलाशी ली गई तो उसके कब्जे से एक अदद पिस्टल 32 बोर व दो अदद जिंदा कारतूस मैगजीन में बरामद हुआ। उक्त गिरफ्तारी के सम्बन्ध में थाना जैतपुरा पुलिस द्वारा अग्रिम विधिक कार्रवाई की जा रही है।

पूछताछ के क्रम में अभियुक्त रवि प्रताप सिंह द्वारा बताया गया कि विवेक सिंह कट्टा की अभिषेक सिंह प्रिन्स से पुरानी रंजिश थी। मृतक अभिषेक सिंह ने विवेक सिंह पर वर्ष 2013 में जानलेवा हमला किया था तभी से विवेक सिंह कट्टा अभिषेक सिंह की जान का दुश्मन हो गया था व समय मिलने का इन्तजार कर रहा था। जिसको मारने की योजना दिनांक 21 अगस्‍त को प्रभाकर उपाध्याय के गांव के ट्यूबवेल पर बनायी गयी। जिसमें विवेक सिंह कट्टा, विजेन्द्र सिंह, हेमन्त सिंह, अतुल विश्वकर्मा, शाश्वत सिंह, नवीन सिंह और शूटर शामिल थे।योजनानुसार गणेशपुर तरना शिवपुर में एक फ्लैट पर इकट्ठा हुए और घटना वाले दिन अतुल विश्वकर्मा अपाचे बाइक से, विजेन्द्र सिंह बब्बू सुपर स्प्लेण्डर बाइक से और स्‍वयं के साथ विवेक सिंह कट्टा, हेमन्त सिंह और शूटर, रवि की स्विफ्ट गाड़ी से निकले। मकबूल आलम रोड पर रुककर अभिषेक के घर से निकलने का इन्तजार करने लगे। जब प्रिन्स सिंह अपने साथी के साथ बाइक से मकबूल आलम रोड पर आ गया तो उसका पीछा किया गया। रास्ते में शूटर स्विफ्ट से उतरकर विजेन्द्र सिंह बब्बू की गाड़ी पर बैठ गया और चौकाघाट काली मन्दिर के पास मौका पाकर शूटर द्वारा अभिषेक सिंह प्रिन्स को गोली मारी गयी। जिसमें उसके साथी व एक राहगीर को भी गोली लग गयी थी।

Related posts

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर सामाजिक बराबरी और सुरक्षा को लेकर किशोरी संगठन ने रैली निकाल कर की बैठक

Vt News

प्रधानमंत्री देश को आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का उपहार देंगे 25 अक्‍टूबर को

VT News

काशी स्टेशन की रेलवे की भूमि को कब्जामुक्त कराया जाएगाःआशुतोष गंगल

VT News