VT News India
National

भाजयुमो के नवान्न चलो अभियान के दौरान जमकर बवाल, पुलिस लाठीचार्ज में 1500 कार्यकर्ता घायल

कोलकाता । भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) की ओर से गुरुवार को भ्रष्टाचार, बेरोजगारी समेत सात सूत्री मुद्दों को लेकर बंगाल की ममता सरकार के विरोध में राज्य सचिवालय ‘नवान्न चलो’ अभियान के दौरान राजधानी कोलकाता व आसपास का इलाका दिनभर रणक्षेत्र बना रहा। हजारों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता अलग-अलग हिस्सों से रैलियां लेकर नवान्न की तरफ बढ़े लेकिन पुलिस ने इसकी इजाजत नहीं दी और पहले ही जगह-जगह बैरिकेड लगा दिए गए थे।भाजपा कार्यकर्ताओं ने कई जगह बैरिकेड को तोड़कर आगे बढ़ने की कोशिश की जिसको लेकर पुलिस के साथ जमकर भिड़ंत हुई। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारी कार्यकर्ताओं पर जमकर लाठियां बरसाईं। उनके ऊपर वॉटर कैनन छोड़े गए एवं आंसू गैस के गोले भी दागे।‌ भाजपा का दावा है कि पुलिस की कार्रवाई में उसके 1500 से ज्यादा नेता व कार्यकर्ता घायल हुए हैं। वहीं, इस कार्रवाई में भाजपा के राष्ट्रीय सचिव अरविंद मेनन, प्रदेश उपाध्यक्ष राजू बनर्जी सहित कुछ प्रमुख नेता भी जख्मी हुए हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उधर पुलिस पर भी पत्थरबाजी की खबर है।दूसरी ओर, भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस कार्रवाई की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि यह बंगाल के इतिहास का सबसे काला दिन है। उन्होंने कहा कि बंगाल में अगले साल जबतक भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार नहीं बन जाती उनका आंदोलन जारी रहेगा। सूर्या ने यह भी दावा किया कि पुलिस ने वाटर कैनन की जगह भाजपा कार्यकर्ताओं पर केमिकल का छिड़काव किया।उन्होंने राज्य व केंद्र सरकार से इसकी जांच की मांग की।हालांकि राज्य के मुख्य सचिव ने केमिकल के छिड़काव के आरोपों को खारिज किया है। भाजपा ने 500 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने का भी दावा किया है।भाजपा के इस नवान्ना चलो आंदोलन में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय समेत तमाम नेता और कार्यकर्ता सड़क पर हैं। भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी ने कहा कि पुलिस हमारे लोगों पर लाठीचार्ज कर रही है। कोलकाता के खिदिरपुर की तरफ एक विशेष समुदाय की तरफ से कार्यकर्ताओं पर पथराव किया जा रहा है। क्या पुलिस उसे नहीं देख सकती? वहीं पुलिसिया कार्रवाई के खिलाफ भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय बीच सड़क पर ही धरने पर बैठ गए हैं। विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल सरकार के भीतर डर है। इस कारण वह विरोध के बुनियादी लोकतांत्रिक अधिकारों को भी नकारने में लगी है। राज्य सचिवालय नवान्न को भी बंद कर दिया गया है। गौरतलब है कि नवान्न चलो आंदोलन को देखते हुए राज्य सरकार ने सुबह में अचानक राज्य सचिवालय नवान्न को सैनिटाइज करने के लिए 2 दिन तक बंद करने की घोषणा कर दी। इस बात से भाजपा कार्यकर्ता और उग्र हो गए। भाजपा के नवान्न चलो आंदोलन के चलते राज्य सरकार ने गुरुवार सुबह में 2 दिनों के लिए राज्य सचिवालय नवान्न को बंद करने की अचानक घोषणा कर दी। हालांकि सचिवालय को बंद करने के पीछे राज्य सरकार ने सैनिटेशन का काम होना बताया है। वहीं, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि भाजपा के आंदोलन से ममता सरकार डर गई। इसीलिए अचानक राज्य सचिवालय बंद कर दिया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता और नेता पुलिस लाठीचार्ज के बाद फिर से सड़क पर डट गए हैं।बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ हालिया हिंसा के खिलाफ निकाली गई रैली के दौरान राजधानी कोलकाता में भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस में जमकर भिड़ंत हो गई। पुलिस ने प्रदर्शनकारी कार्यकर्ताओं पर जमकर लाठियां बरसाईं। उनके ऊपर वॉटर कैनन व आंसू गैस छोड़े गए, जिसमें कई कार्यकर्ता घायल हुए हैं। इधर, पुलिस लाठीचार्ज के खिलाफ गुस्साए भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर बवाल काटा और सड़कों पर जमकर आगजनी भी की। इन लोगों ने विभिन्न जगहों पर गाड़ियों के टायर जलाए।नवान्न चलो आंदोलन को लेकर भाजपा की तरफ से चार प्रमुख रैलियां निकाली जा रही हैं। चार रैलियों में से तीन रैलियां अकेले कोलकाता में निकाली जा रही हैं। एक रैली हावड़ा के शिवपुर से सचिवालय तक निकल रही है। हालांकि पुलिस ने इसको रोक दिया है। इसी को लेकर जमकर बवाल हो रहा है।

चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा

किसी भी घटना से बचने के लिए राज्य सरकार ने जगह-जगह भारी पुलिस फोर्स तैनात किया है। चप्पे-चप्पे पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है।वॉटर कैनन की गाड़ियां लगाई गईं हैं। बंगाल सरकार ने पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा है।

Related posts

कोवैक्सिन में गाय के बछड़े का सीरम होने की अफवाह, सरकार ने बताई पूरी सच्चाई

VT News

पुंछ के जंगलों में छिपे आतंकियों पर अंतिम प्रहार की तैयारी, लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील

VT News

सुप्रीम कोर्ट ने काला धन जब्‍ती का कानून बनाने के लिए केंद्र को निर्देश देने से किया इनकार

VT News