VT News India
Varanasi

प्रतिबंध के बावजुद पटाखे की खुला प्रदर्शन के चलते शहर के हवाओं में घुल गयी जहर

वाराणसी। प्रतिबंध के बावजुद पटाखे की खुला प्रदर्शन के चलते शहर के हवाओं में जहर घुल गयी। इस बार दीपावाली की रात पर शहर के अलग अलग इलाकों से एकत्र क्लाइमेट एजेंडा की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार आशापुर, पांडेयपुर, काशी स्टेशन, सारनाथ व कचहरी सबसे अधिक प्रदूषित रहे जबकि रविंद्रपुरी तुलनात्मक रूप से साफ रहा। इस बार शहर के 18 जगहों पर निगरानी की गई थी। क्लाइमेट एजेंडा की ओर से हर वर्ष की तरह पाचवीं बार इस वर्ष भी दिवाली पर वाराणसी में वायु प्रदूषण की एक विस्तृत रिपोर्ट सोमवार को जारी की गयी। इस रिपोर्ट के अनुसार, कोविड 19 संक्रमण के खतरे के मद्देनजर, बनारस में वायु गुणवत्ता ठीक रखने के उद्देश्य से जारी NGT के दिशा निर्देशों की खुल कर अवहेलना हुई और जिला प्रशासन हर वर्ष की तरह इस बार भी मूकदर्शक बना रहा। पूर्ण रूप से पटाखा प्रतिबन्ध के लिए जारी आदेश को ताक पर रखते हुए काशीवासियों ने जहां एक तरफ जम कर पटाखे बजाये, वहीं दूसरी ओर इन पटाखों से शहर में पी एम 2.5 और पी एम 10 का स्तर भारत सरकार के मानकों की तुलना में क्रमशः चार और साढ़े चार गुना अधिक रहा। प्राप्त आंकड़ों से यह साफ़ जाहिर है कि न केवल बच्चे, बूढ़े बल्कि कोविड  के मरीजों की सुरक्षा को भी ताक पर रखा गया और जिला प्रशासन मूक दर्शक बना रहा।

Related posts

सीआरपीएफ ने राजघाट से अस्सी घाट तक की सफाई

VT News

बड़ागांव थाने में एसएसपी औचक निरीक्षण किया, थानाध्‍यक्ष सहित उप निरीक्षक को किया लाइनहाजिर

Vt News

हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गांधी जयंती पर्व जगह-जगह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व माटी के लाल पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के चित्रों का अनावरण, माल्यार्पण हुआ

VT News