VT News India
Varanasi

अचानक बढ़ी पाबंदियों का ऐसे विकल्प तलाश रहे लोग

वाराणसी। यूपी में शादियों की बैंड कोरोना ने इस कदर बजा रखी है कि सरकार को एक बार फिर से पाबंदियां बढ़ानी पड़ी हैं। दो दिन बाद, 25 नवंबर से शुरू हो रहे शादियों के सीजन के लिए दो दिन पहले ही सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। नए दिशा-निर्देशों के मुताबिक शादी-समारोहों में अब केवल 100 लोग ही शामिल हो सकते हैं। ऐसे में उन वर-वधु परिवारों की मुश्किलें बढ़ गई हैं, जो शादी के कार्ड बांट चुके हैं। अब उन्हें मेहमानों की संख्या सीमित करने के लिए तरह-तरह की जुगत लगानी पड़ रही हैं। पढ़े- कैसे-कैसे विकल्प आजमा रहे लोग।वर और वधू पक्ष की ओर से प्रदेश में शादी-समारोहों पर फिर पाबंदी जारी होने के बाद अब मात्र 100 लोग ही शामिल हो सकेंगे। दो दिन बाद शुरू हो रहे शादियों के सीजन के लिए ज्यादातर वर और वधू पक्ष ने अलग-अलग 200 से 250 कार्ड बांट दिए हैं। अब उनके सामने चुनौती है कि कार्ड बंटने के बाद किसे बुलाएं और किसे मना किया जाए। 25 नवंंबर को जिनके यहां शादी है, उनकी चिंता ये है कि वो शादी की तैयारी करें या मेहमानों को फोन कर शादी में न आने के लिए सूचित करें। 30 नवंबर को शादी का दूसरा बड़ा मुहुर्त है, इन शादियों के लिए भी कार्ड बंटने शुरू हो चुके हैं। अब यहां कार्ड रोक कर दूसरे विकल्‍प तलाशे जा रहे हैं।विकल्‍प के तौर पर शादियों में अलग अलग आयोजनों के लिए भी लोगों को अलग समय से बुलाने की तैयारियां कर रहे हैं। मेंहदी की रस्‍त में यार दोस्‍त, सात फेरों के समय घर के लोग, आफ‍िस के लोग भोजन के समय ही बुलाने की चर्चाएं घरों में हो रही हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के दूसरे दौर में शादियों में भारी जुटान होने की उम्‍मीद पर प्रशासनिक सख्‍ती की जानी तय है। चिंता यह भी है कि किसी शादी में काेरोना संक्रमण का मामला सामने आया तो कम से कम सौ लोगों को क्‍वारंटाइन हाेना पड़ेगा।

मेहमानों की संख्या के अलावा ये भी हैं प्रतिबंध

सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार विवाह समारोह में बैंड-बाजा और डीजे बजाने पर तो प्रतिबंध है ही साथ ही बीमार, बुजुर्ग और गर्भवतियों को सामूहिक समारोह से दूर रखने का भी कई जिलों में निर्देश जारी किया गया है। शादी समारोह की अनुमति के लिए थाना स्तर से ही पुलिस कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराएगी। वहींं कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध धारा 144 और 188 के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।कोरोना संक्रमण काल में आनलाइन वेबिनार और फेसबुक लाइव सहित इंटरनेट मीडिया के प्रयोग करने वाले अब कार्ड पर आधुनिक प्रयोग करने की गुंंजाइश तलाश रहे हैं। कुछ लोग कार्ड पर वेबिनार जॉइन करने का लिंक भी साझा कर कोरोना की चेन तोड़ने के लिए प्रतिबद्ध नजर आ रहे हैं। ऐसे लोगों के अनुसार आयोजन को फेसबुक लाइव किया जाएगा जिससे घर परिवार के लोग भी आनलाइन जुट सकेंगे। जबकि नेग के लिए बैंक एकाउंट, पेटीएम, गूगल पे सहित आनलाइन तोहफे भेजने की चर्चा अमूमन हर घर में चल रही है।

Related posts

श्री शांति फाउंडेशन व राष्ट्रवादी युवा वाहिनी ने पुलिस जवानों के बीच मास्क और सेनीटाइजर का वितरण किया

Vt News

डीएम ने कोविड वैक्‍सीनेशन कैंप का किया निरीक्षण

VT News

काशी विद्यापीठ का कृषि विज्ञान एवं तकनीकी संकाय भैरवी तालाब एफपीओ गठित की अगुवाई करें

VT News