VT News India
Others

भाग गए भगवान

भाग गए भगवान

हम अक्सर जिन्हें देहाती और झोलाछाप डॉक्टर बोलते थे, आज वहीं डॉक्टर हैं जो इस महामारी के वक्त में आम जनता के साथ हैं, लोगो की जान बचा रहे है । भले ही उनके पास बड़ी बड़ी मसीने नही है भले ही उनको ज्यादा ज्ञान नहीं है, भले ही उनके पास बड़ी बड़ी डिग्री नहीं हैं, लेकिन उनके पास इंसानियत है वो कम से कम लोगों को हौसला तो दे रहे, कम से कम लोगों को इतना तो सुकून होता है कि उन्होंने डॉक्टर को दिखाया और वो जो दवाइयां खा रहें हैं वो उन्हें डॉक्टर ने दी हैं ।
जो बड़े बड़े नर्सिंग होम खोलकर खुद को बहुत बड़ा डॉक्टर बताते थे, हजारों रुपए जो सिर्फ एक नजर देखने की फीस लेते थे जिनके लिए मरीज इंसान नहीं होता था सिर्फ कमाई का जरिया होता था वो सब दुबक कर बैठ गए, आज जब इंसान मर रहा है, तड़फ रहा है उनके दरवाजों पर रो रहा है अपने बच्चे अपने माँ बाप अपनी बहन को एक नजर देखने की भीख मांग रहा है तब वो अपने कमरे से बाहर निकलना भी मुनासिब नहीं समझ रहें हैं । कई डॉक्टर तो ऐसे हैं जिन्होंने अपनी मौत की झूठी खबर भी फैला रखी है कई डॉक्टर ऐसे हैं जिन्होंने खुद को कोरोना पेशेंट घोषित कर रखा है। डॉक्टर जिन्हें लोग भगवान का दर्जा देते हैं आज उनके अंदर से इंसानियत मर गई है , उनका हृदय दरवाजे पर कराहती एक माँ की चीख से भी नही पिघल रहा है, कैसे कहें वो भगवान हैं , वो तो इंसान कहने के लायक भी नही हैं ।
जनता का खून चूस कर बड़ी बड़ी हवेलियां खड़ी करने वाले इन राक्षसों को जो जरूरत के वक्त भाग गए , जनता को इनका पूरा हिसाब करना चाहिए, सरकार को इनके लाइसेंस रद्द करने चाहिए , आज नही तो कल कोरोना खत्म होगा और फिर यह अपनी दुकान खोल कर बैठेंगे , और आपको लूटेंगे , लिस्ट तैयार कर लो, और अपना जूता भी क्योंकि वक्त ने आज सबके चेहरों से पर्दा हटा दिया है चाहे वो अधिकारी हो डॉक्टर हो या नेता हो, आज सभी बेनकाब हो चुके हैं अगर अभी न पहचान पाए तो निश्चित ही आप अंधे हो ।
मैं सरकार से यह अपील करना चाहूंगा कि ऐसे नाजुक हालात में अपने कर्तव्य से मुँह मोड़ने वाले इन देश और समाज के गद्दारों का लाइसेंस रद्द किया जाए और इनकी आय संपत्ति की जांच की जाए साथ ही साथ देश मे जितने भी प्राइवेट हॉस्पिटल नर्सिंग होम और डॉक्टर हैं उनसे इस कोरोना काल मे किए गए कामो और ड्यूटी के टाइम का हर दिन का हिसाब लिया जाए , जिससे पता चल सके कि इसने कितना काम किया है । और जितने भी झोला छाप डॉक्टर हैं जिन्होंने लगातार लोगों की सेवा की प्रोत्साहन दिया जाए और सम्मानित किया जाए ।

सचिन तिवारी

Related posts

कासगंज 22 वर्षीय युवक का मिला शव पुलिस ने की कार्यवाही

Vt News

अमांपुर के भाजपा विधायक देवेंद्र प्रताप सिंह का हृदय गति रुकने से निधन।*

Vt News

ग्यारह केन्द्रों पर1200सीनियर सिटीजन का हुआ टीकाकरण* *डीएम चंद्र प्रकाश सिंह व कलक्टे्रट स्टॉफ ने लगवाई कोरोना टीके की दूसरी डोज** रिपोर्ट कपिल दीक्षित कासगंज

Vt News