VT News India
Lucknow

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ मिलने पहुंचे अमित शाह से उनके आवास पर

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को अचानक दो दिन के लिए दिल्ली पहुंच गए। इसके साथ ही यूपी के राजनीतिक गलियारों में अटलकों का बाजार गर्म हो गया है। भाजपा के प्रदेश संगठन में बदलाव के साथ ही यूपी सरकार के मंत्रिमंडल में फेरबदल की सुगबुगाहट चल रही है। लिहाजा उनका ये दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। दिल्ली पहुंचते ही सीएम योगी आदित्यनाथ, गृहमंत्री अमित शाह से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। शुक्रवार को उनकी मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संग होगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दिल्ली जाने के लिए गुरुवार दोपहर करीब ढाई बजे लखनऊ से रवाना हुए। दोपहर करीब साढ़े तीन बजे उनका विमान गाजियाबाद हिंडन एयरबेस पर लैंड हुआ। यहां से सड़क मार्ग से वह दिल्ली स्थिति यूपी सदन पहुंचे। यूपी सदन पहुंचने के थोड़ी देर बाद ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करने उनके घर रवाना हो गए। गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मुलाकात हुई। पार्टी के दोनों नेताओं ने उत्तर प्रदेश में संगठन को मजबूत करने और सरकार की उपलब्धियों को आमजन तक पहुंचाने पर चर्चा की।

बताया जा रहा है कि गृहमंत्री से मुलाकात के बाद शाम को सीएम योगी आदित्यनाथ दिल्ली में गाजियाबाद और नोएडा के भाजपा नेताओं से मिलेंगे। भाजपा के राष्ट्रीय संगठन के नेताओं से भी उनकी मुलाकात होनी है। गुरुवार रात दिल्ली में रुकने के बाद शुक्रवार को दिन में 11 बजे पीएम नरेंद्र मोदी से उनकी मुलाकात होगी। शुक्रवार को ही उनकी केंद्र सरकार के अन्य मंत्रियों तथा भाजपा के कुछ सांसदों से भी मुलाकात हो सकती है। ऐसी भी सूचना है कि योगी आदित्यनाथ शुक्रवार दोपहर 12:30 बजे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी भेंट कर सकते हैं। लिहाजा कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ पीएम को देंगे रिपोर्ट

दिल्ली रवाना होने से पहले, बुधवार देर रात तक लखनऊ में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह तथा संगठन मंत्री सुनील बंसल के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बैठक चली थी। ये भी बताया जा रहा है कि बैठक में बनी रिपोर्ट पार्टी आलाकमान को सौंपने के लिए योगी आदित्यनाथ दिल्ली गए हैं। इसके अलावा पंचायत चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन के आधार पर आगे की रणनीति पर भी वह आलाकमान से चर्चा करेंगे। इसके बाद भाजपा आलाकमान तय करेगा कि उत्तर प्रदेश सरकार और संगठन में किस तरीके के बदलाव होंगे। साथ ही वर्ष 2022 में होने वाला यूपी विधानसभा चुनाव किन मुद्दों पर लड़ा जाएगा। इसके अलावा पंचायत चुनाव के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में किस तरीके से भाजपा बेहतरीन फिनिश करे। सीएम योगी आदित्यनाथ की भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से इन मुद्दों पर भी वार्ता हो सकती है।

Related posts

क्षेत्रीय विधायक अमरीश पुष्कर व सपा नेता लोकसभा प्रत्याशी सीएल वर्मा द्वारा नहर की सफाई का कार्य कराया गया

Vt News

ब्रेकिंग न्यूज़ लखनऊ

Vt News

भ्रष्टाचार बेरोजगारी को लेकर सपा विधायक व सैकड़ो सपा कार्यकर्ताओं का योगी सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन

Vt News