VT News India
National

भारत-चीन तनाव के बीच लद्दाख पहुंचे आर्मी चीफ, अग्रिम मोर्चे पर तैयारियों का लेंगे जायजा

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन के साथ जारी तनाव (India China Tension) के बीच सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (Army Chief General Manoj Mukund Naravane) दो दिन के लद्धाख दौरे पर पहुंचे हैं। यहां वह फील्ड कमांडरों से अग्रिम मोर्चे पर तैयारियों का जायजा लेंगे। अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान सेना प्रमुख उन सैनिकों की तैयारियों की भी समीक्षा करेंगे, जो बीते तीन महीने से चीनी सैनिकों के खिलाफ मोर्चा संभाले हुए हैं।

पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच हुए ताजा टकराव से तनाव बढ़ा हुआ है। दोनों देशों के बीच गतिरोध कम करने को लेकर बीते दो दिनों से लगातार ब्रिगेड कमांडर स्तर की वार्ता हो रही है। हालांकि, इस बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकल सका है।बता दें कि 29-30 अगस्त की रात चीनी सैनिकों ने पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर घुसपैठ की कोशिश की, जिसे भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया। चीन की ऐसी हरकतों के कारण भारतीय सेना ने पैंगोंग झील के आसपास सामरिक महत्व की कई ऊंची चोटियों तथा पूरे क्षेत्र में जवानों की तैनाती बढ़ा रखी है। भारतीय वायुसेना को भी पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर चीन की बढ़ती गतिविधियों पर नजर रखने के लिए चौकसी बढ़ाने को कहा गया है।

रक्षा मंत्री कर चुके हैं दौरा

हाल ही में चीन से तनाव के बीच केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने पूर्वी लद्दाख में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा के साथ-साथ लेह का दौरा किया था। रक्षामंत्री लद्दाख दौरे के दौरान स्थानीय सैन्य कमांडरों के साथ एलएसी पर टकराव और सैन्य तैनाती की समीक्षा की थी।

Related posts

कोरोना की दूसरी लहर पर मौतों के गलत आंकड़ों पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- बिना तथ्यों के फैलाई गई गलत जानकारी

VT News

ड्र्ग्स मामले में जेल में बंद रिया को क्या मिलेगी जमानत? मुंबई कोर्ट में सुनवाई जारी

Vt News

कैसे एक चिंगारी ने आग बनकर बांग्‍लादेश की आजादी की नींव रखी, भारत ने निभाई थी अहम भूमिका

VT News