VT News India
Others Uttar Pradesh

किसी ने दबंगई से किया मार्ग बंद तो किसी ने मार्ग पर खोल रखा नाबदान, राहगीर हो रहे परेशान

  • सुनबा के बाबा पुरवा में निषाद बिरादरी का जीना हुआ दुश्वार, ग्राम प्रधान मौन

(सीवीएम न्यूज़ प्रतिनिधि डॉ अंशुमान सिंह गुड्डू)

सैदपुर-अयोध्या। विकास खंड मवई के ग्राम सुनबा में मजरे बाबा का पुरवा में निषाद बिरादरी को दबंगो ने बेहद मुश्किल में डाल रखा है‌।मिली सूचना के अनुसार उक्त गांव में राम बहादुर पुत्र शिवभजन ने खड़ंजा युक्त मार्ग पर अपने घर का नाबदान खोल रखा है जिससे राम सूरत,राम मूरत व अन्य मोहल्ले वासियों का आना जाना मुश्किल हो रहा है जब अन्य किसी ओर को पानी निकालने की बात आती है या पाइप डलवाने की बात आती है तो उक्त रामबहादुर लड़ाई झगडे पर आमादा हो जाता है। और इसी गांव के निवासी बुधराम पुत्र राम दास ने तो निषाद बिरादरी के उक्त रामसूरत आदि का मार्ग बंद ही कर दिया है दो तरफ से निकलने की ब्यवस्था थी तो एक तरफ से रामबहादुर ने नाबदान की नाली खोल दिया तो दूसरी तरफ बुधराम ने बंद ही कर दिया है। पीड़ित लोगों ने मौखिक जानकारी देते हुए बताया कि बुधराम व रामबहादुर एक ही परिवार के हैं और दोनों की मिलीभगत है। जिससे हम सबका जीना दुश्वार हो गया है।जो रास्ता बुधराम ने बंद कर रखा है उसका कई बार फैसला हुआ हुआ है किंतु बुधराम की दबंगई के आगे किसी की भी नहीं चलती। बताया गया कि एक दो बार पुलिस भी मामले में आई पुलिस के सामने मान जाते हैं किन्तु पुलिस के जाने के बाद फिर वही हाल। पंचायत चुनाव होने हैं ऐसी समस्याओं का समाधान ग्राम प्रधान को ही करा देना चाहिए किन्तु प्रधान जी भी इस तरफ नजर नहीं फेरते। जरूरी नहीं है कि प्रत्येक मामले में पुलिस को ही बुलाया जाए कुछ हमें भी करना चाहिए मानवता इंसानियत का परिचय देते हुए।

Related posts

मोदी संग कश्मीरी नेताओं की बैठक, कांग्रेसी आचार्य ने किया स्वागत लखनऊ – रिपोर्ट, कपिल दीक्षित व्यूरोचीफ vt news जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने के करीब दो साल बाद आज पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य के आठ राजनीतिक दलों के 14 नेताओं के साथ बैठक की। यह बैठक करीब साढ़े तीन घंटे तक चली और इस दौरान कई मुद्दों पर चर्चा की गई। जम्मू कश्मीर राज्य के सभी दलों के नेताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वार्ता के लिए आमंत्रित किया. पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, गुलाम नवी आज़ाद सहित लगभग सभी नेताओं ने मुलाक़ात की. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि बैठक में हमने कांग्रेस की तरफ से सरकार के सामने 5 बड़ी मांगे सरकार के सामने रखी। पहली मांग थी कि राज्य का दर्जा जल्दी बहाल करे सरकार। उन्होंने कहा कि हमने बैठक में कश्मीरी पंडितों को घाटी में बसाने की बात भी बोली। केंद्र सरकार जल्द से जम्मू-कश्मीर में चुनाव करवाएं। बैठक में अधिकतर पार्टियों ने कहा कि 370 का मामला सुप्रीम कोर्ट में है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री ने कहा कि सरकार जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा देने के लिए प्रतिबद्ध है। सभी नेताओं ने पूर्ण राज्य की मांग की है। इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री से वार्ता का किसी कश्मीरी नेता अथवा पार्टी के द्वारा कोई विरोध नहीं किया गया. इस मुलाक़ात के बाद कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने भी ट्वीट कर स्वागत किया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि राष्ट्र राजनीति से बढ़ा होता है. हालांकि कांग्रेस पार्टी के बाकी नेता इस मुद्दे पर खामोश ही नज़र आये. पीडीपी (पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी) के नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने कहा कि बैठक बहुत शानदार हुई। उन्होंने कहा कि 370 का मामला सु्प्रीम कोर्ट में है और अदालत ही 370 के मामले पर फैसला करेगी। मैंने धारा 370 कि कोई मांग नहीं रखी। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि 370 खत्म करने का फैसला जम्मू-कश्मीर विधानसभा के द्वारा होता तो और अच्छा होता। जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा दिलाने की मांग सभी दलों ने की। पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने पर सीधे कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा कि पहले परिसीमन हो। सही मायनों में अब धारा 370 हटाना कोई मुद्दा नहीं बचा जब कश्मीर के सभी नेताओं ने केंद्र के साथ बैठकर चर्चा की एवं राज्य के विकास और पूर्ण राज्य के दर्जे की मांग की.

Vt News

आज रविवार 21 फरवरी को कासगंज के नवनिर्मित स्टेडियम फरीदपुर में प्रशासन की एलीगेन्ट इलेवन और बैंकर्स क्रिकेट क्लब के बीच उद्घाटन मैच खेला गया*। रिपोर्ट कपिल दीक्षित

Vt News

UP: अलीगढ़ में खिलौने बनाने की फैक्ट्री में तेज धमाका, चार की मौत कई घायल

Vt News