VT News India
Varanasi

क्वांटिटी, क्वालिटी सेवा सर्विस व रोजगार से बढ़ेगा जनपद का जीडीपी :दीपक अग्रवाल

वाराणसी। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कमिश्नरी सभागार में जनपद की घरेलू जीटीपी बढ़ाने हेतु जिला विकास योजना पर चर्चा एवं कार्यों की समीक्षा की। जनपद की जीडीपी बढ़ाने के लिए प्रमुख क्षेत्रों यथा- कृषि, पशुपालन, मत्स्य पालन, पर्यटन, मैन्युफैक्चर, उद्यान आदि के कार्यों में उत्पादन बढ़ाकर, गुणवत्ता निखार कर, बेहतर सेवाएं देकर, रोजगार सृजन करने की योजनाओं को रखा गया है। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कहा कि बनारस देश का महत्वपूर्ण जनपद है। यहां इंफ्रास्ट्रक्चर के रिकॉर्ड कार्य हुए हैं। केंद्र व राज्य सरकार की अनेकों योजनाएं संचालित हैं। इससे जनपद की प्रति व्यक्ति आय में बढ़ोतरी है।

जीडीपी बढ़ाने की कार्य योजना में पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ यहां टूरिस्ट के रुकने की अवधि बढ़ाने की कार्ययोजना पर बल दिया गया है। इसके लिए बनारस के समीपवर्ती जिलों यथा- मिर्जापुर, प्रयागराज (इलाहाबाद), चंदौली आदि के पर्यटन स्थलों को जोड़कर टूरिस्ट से लिंक किया जाएगा, ताकि दिन में घूमकर पर्यटक रात्रि को बनारस से करें। कृषि में उत्पादन के साथ गुणवत्ता सुधार यथा- ऑर्गेनिक उत्पादों के बढ़ावे, अच्छी पैकेजिंग, मार्केटिंग व ब्रांडिंग सुदृढ करने को रखा गया है। मत्स्य उत्पादन में गिफ्ट टेक्नोलॉजी से 90 फ़ीसदी मेल मछली का उत्पादन होता है। मेंल मछली मादा के सापेक्ष तेजी से बढ़ती है। कमिश्नर ने बताया कि मंडल के सभी जिलों में ग्राम सभा की गैर आवंटित तालाबों जो मत्स्य पालन के उपयोगी है, उन्हें आवंटित किया जाएगा। पुराने आवंटित तालाबों का रिनुअल होगा।
जनपद में दुग्ध उत्पादन जीडीपी बढ़ोतरी का बड़ा क्षेत्र है। यहां अमूल, पराग, मदर डेयरी कंपनियां आ चुकी हैं। दुग्ध उत्पादों में वैल्यू एडिड बड़े स्तर पर हो रहा है। योजना में दुग्ध उत्पादन बढ़ाने पर बल दिया गया है। जनपद में जायद फसल का क्षेत्रफल बढ़ाने की बड़ी संभावना है। इसे 50 हजार हेक्टेयर में किया जा सकता है। कृषि क्षेत्र कोविड महामारी के दौरान सशक्त बनकर उभरा है। लघु, मध्यम उद्योग जीडीपी बढ़ाने में बड़े सहायक हैं। 10 फ़ीसदी एमएसएमई क्षेत्र में बढ़ोतरी से 1.8 जीडीपी बढ़ती है। कमिश्नर ने कहा कि जनपद की सकल घरेलू आय बढ़ाने के लिए आमजन की आय बढ़ाने हेतु उन्हें कार्य के प्रति मोटिवेट करें। शासकीय स्कीम मोटिवेशन में सिंबॉलिक काम करें। उन्होंने विभागीय अधिकारियों से कहां की शासकीय योजनाओं से लाभान्वित व सुधार के आंकलन के साथ प्राइवेट व्यक्ति/सेक्टर द्वारा जीडीपी बढ़ोतरी में किये गये योगदान की मानिटरिंग की जाए। वाराणसी हर क्षेत्र में बढ़ा है। चिकित्सा का हब, पर्यटन का प्रमुख केंद्र, कृषि व सिल्क उत्पादों के निर्यात, उद्यान, मत्स्य के उत्पाद, डेयरी उत्पाद, वायु, जल, स्थल से ट्रांसपोर्ट/ यातायात का प्रमुख केंद्र, शिक्षा, कला के क्षेत्र, खादी ग्रामोद्योग के उत्पाद आदि विभिन्न क्षेत्र हैं। जीडीपी बढ़ाने की कार्य योजना में इन्हें और सुदृढ़ करने व उनका पर्यवेक्षण करने पर बल दिया गया।इस अवसर पर विभिन्न विभागों के अधिकारी सहित विभिन्न क्षेत्रों में अच्छा कार्य करने वाले स्टॉकहोल्डर प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

posted by: Shivam Kumar

Related posts

गवर्नर श्रीमती आनंदीबेन ने शहंशाहपुर गौशाला पर 14 पशुपालकों को गुजरात से लाई गई गीर गाय वितरित की

VT News

पुलिस मुठभेड़ के भय से बदमाश कोर्ट में आत्मसमर्पण कर गया जेल

VT News

रुद्राक्ष भवन का कमिश्नर व जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण, कार्य अपूर्ण मिला तो लगायी फटकार

VT News