VT News India
Varanasi

कृषि उत्पाद के निर्यात से किसानों को मिलेगा सीधा लाभ :दीपक अग्रवाल

वाराणसी।  बनारस को पूर्वी उत्तर प्रदेश का कृषि निर्यात का हब बनाने की दिशा में तेजी से कार्य किया जा रहा है। एपीडा का कार्यालय स्थापित होकर किसानों को अंतरराष्ट्रीय स्तर के मानकों के अनुरूप फल सब्जियों के उत्पादन हेतु भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, ईरी व अन्य विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण व उन्नतशील बीजों की उपलब्धता, पैकेज हाउस की स्थापना, ट्रांसपोर्ट सब्सिडी आदि का कार्य किया जा रहा है।

मंडलीय सभागार में कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने विभिन्न विभागों के साथ बैठक कर कृषि निर्यात को बढ़ावा देने पर विस्तार से चर्चा मंथन व किए जा रहे कार्यो की समीक्षा की। फल-सब्जी के ठीक से निर्यात हेतु एक पैक हाउस के निर्माण की कार्यवाही हो रही है। लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक छोटे पैक हाउस स्थापना की कार्रवाई हो रही है। देश के किसी हवाई अड्डे पर यह पहला पैक हाउस होगा। कार्गो फैसिलिटी राजातालाब को अपग्रेट किया जाएगा। प्रसिद्ध बनारसी लंगड़ा आम का जनपद में इस बार पर 70 हेक्टेयर भूमि में उत्पादन की कार्यवाही की जा रही है। सेवापुरी ब्लाक में 1740 किसानों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। इंदु वैरायटी की मिर्च जो एक्सपोर्ट होती है, उसका उत्पादन क्षेत्र बढ़ाया जा रहा है। किसानों के फार्म पर ऑन फार्म पैक हाउस निर्माण की योजना है। जिसमें दो लाख रुपये तक सब्सिडी है। ड्रिप सिंचाई किसानों को लाभकारी हुई। जिस पर 90 फ़ीसदी सब्सिडी है। बैठक में ड्रिप सिंचाई के लाभार्थी किसान ने बताया कि इससे पैदावार व क्वालिटी दोनों में बढ़ोतरी हुई है। गाजीपुर के रेवतीपुर, जमानिया में किसान केले की खेती में ड्रिप सिंचाई का उपयोग कर लाभ ले रहे हैं।
चंदौली में काला धान में गुणवत्ता व पैदावार बढ़ोतरी के लिए ईरी संस्थान ने रिसर्च शुरू कर दी है। इस काला धान की पौधे की लंबाई कम करने व रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए ही ईरी संस्था कार्य कर रही है। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने मंडल के सभी जिलों में सब्जी, फलों के माडल फार्म किसानों के खेतों पर तैयार कर वहां अन्य किसानों को विजिट कराकर अंतर्राष्ट्रीय मानक अनुरूप पैदावार/उत्पादन के प्रशिक्षण पर जोर दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटित वाटर इनलैंड बंदरगाह, रामनगर पर एक जहाज आ गया है। जिससे जलीय मार्ग से ट्रांसपोर्ट का कार्य चल रहा है। कमिश्नर ने कहा कि फार्मर प्रोडक्शन ऑर्गेनाइजेशन (एफपीओ) को अधिक से अधिक बनाकर उनके माध्यम से निर्यात कार्य कराएं। इससे किसान को सीधा लाभ मिलेगा। उन्होंने कृषि, उद्यान विभागो को निर्देशित किया कि गांवो में किसानों के खेत पर प्रदर्शन क्षेत्र बनाकर दूसरे किसानों को दिखाएं। जो निर्यात कर रहे हैं, उनका विजिट कराएं। कैसे निर्यात की मानक से फल-सब्जी उगाए, यह किसान को बताएं। प्रधानमंत्री जी के आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना सशक्त गांव व किसान की समृद्धि से होगा। सरकार की हर योजना बताएं। कैसे किसान लाभ ले, यह बता कर सहयोग करें।
बैठक में एपीडा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

posted by Shivam Kumar

Related posts

14 और कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले, 13 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज

Vt News

नाबालिग पुत्री के भगाए जाने की सम्बंध में, मां व बेटे को पुलिस ने भेजा जेल

VT News

प्राथमिक विद्यालय का गिरा छज्जा,कोरोना के चलते बड़ा हादसा होते होते बचा

Vt News