VT News India
Lucknow

गांधी जयंती के मौके पर आनलाइन ध्यान,12 प्रादेशिक भाषाओं में लगातार 12 घंटे निःशुल्क आत्म साक्षात्कार होगा

 

मोहनलालगंज ।लखनऊ गांधी जयंती के अवसर पर शुक्रवार को 12 प्रादेशिक भाषाओं में सहजयोग आज का महायोग कार्यक्रम का आयोजन आनलाइन 12 घंटे लगातार चलेगा जो पूर्णतया निः शुल्क है मानव जीवन खुशहाल बनाने का सहजयोग उत्तम माध्यम है। शुक्रवार अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर सहजयोग संस्था द्वारा 12 प्रादेशिक भाषाओं में सुबह 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक आत्म साक्षात्कार संचालित किया जाएगा। आनलाइन ध्यान में सभी भारतीय समाज के नागरिकों से अपील करते हुए उत्तर प्रदेश सहजयोग समन्वयक डॉ अशोक कुमार चौहान ने कहां कि अपने आध्यात्मिक उत्थान हेतु आत्म साक्षात्कार कार्यक्रम सुबह आठ बजे से शुरू होगा जो कि प्रमुख बारह भाषाओं में एक एक घंटे का समय सभी भाषाओं के लिए निर्धारित किया गया है, कार्यक्रम का शुभारंभ संस्कृत भाषा से किया जाएगा, हिंदी में सुबह 9 बजे , पंजाबी में शाम 4 बजे , अंग्रेजी में शाम 7 बजे , बंगाली ,तेलुगू ,उर्दू ,मराठी, गुजराती सहित 12 भाषाओं में सुबह 8:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक प्रसारित किया जाएगा। आज के दौर में मानव जीवन तनाव एवं अनेकों समस्याओं से जूझ रहा है आत्म साक्षात्कार पाए बिना मानव जीवन अधूरा है। सहजयोग प्रणेता परम पूज्य श्री माताजी निर्मला देवी द्वारा कुंडली जागरण कर मनुष्य शारीरिक, मानसिक, आर्थिक, तनाव से मुक्ति पाकर खुशहाल जीवन यापन कर रहे हैं जो कि विश्व के 120 से अधिक देशों में शांतिपूर्ण ढंग से सहजयोग संचालित हो रहा है जो पूर्णतया पूरे विश्व में निः शुल्क है। परमपूज्य श्री माताजी निर्मला देवी के पति श्री चंद्रिका प्रसाद श्रीवास्तव जी प्रधानमंत्री कार्यालय में सचिव थे, श्री माता जी निर्मला देवी उस दौरान गांधी जी के साथ आश्रम में रहती थी श्रीमाता जी को गांधी जी बड़े प्यार से नेपाली कहकर पुकारते थे ।गांधी जयंती के अवसर पर यह कार्यक्रम अपने स्वतंत्रता के लिए मतलब स्वा का तंत्र यानी अपनी आत्मा को जानने के लिए आयोजित किया जा रहा है जो कि( w w w sahaj yoga org in / live) डब्ल्यू डब्ल्यू सहज योगा ओआरजी इन / लाइव पर प्रसारित किया जाएगा जो आम जनमानस के लिए निः शुल्क कार्यक्रम है। परम पूज्य श्री माताजी जी निर्मला देवी जी ने बताया था ,कि मानव के अंदर की शक्ति जागरण के उपरांत मानव चेतना में शारीरिक ,मानसिक, भावनात्मक ,आध्यात्मिक ऊर्जा का स्रोत उत्थान का मार्ग प्रशस्त करता है इससे मानव ही नहीं बल्कि पशुओं एवं फसलों पर भी इसका अच्छा प्रभाव देखने को मिला है जिसे वैज्ञानिकों ने सिद्ध कर दिखाया है सहज योग विधि द्वारा की जा रही खेती की उपज अच्छी हो रही है। आत्म साक्षात्कार पाने के बाद सिर के तालू भाग एवम् हाथो में ठंडी ठंडी हवा, लहरिया जिसे आदि शंकराचार्य ने सलीलम सलीलम ,तो मोहम्मद साहब ने कहा था जब क्यामां का वक्त आएगा तो हमारे हाथ शहादत देंगे, ईसा मसीह ने जिसे कूल ब्रिज ऑफ होलीघोष्ट का नाम दिया ,गुरुनानक देव ने अलखनिरंजन से परिभाषित किया था, मानव अपने व समाज के उत्थान के लिए सहजयोग को जीवन में आत्मसात कर मानवता को उन्नत करने का एकमात्र तरीका है सहजयोग संस्था ने समस्त जन मानव से अपील की है कि 2 अक्टूबर शुक्रवार को अपना अमूल्य समय निकाल कर सहज योग विधि द्वारा आत्म साक्षात्कार लेकर जीवन धन्य बनाए, ध्यान को अवश्य अपनाएं एवं कोरोना काल की शारीरिक, मानसिक एवं आर्थिक समस्याओं से उपजे तनाव से मुक्ति पाएं ,कार्यक्रम के आयोजन का लाभ उठाने के लिए टोल फ्री नंबर 1800 30 700 800 पर संपर्क करें किया जा सकता है

Related posts

मोहनलाल गंज पुलिस वाहन चेकिंग के दौरान कार सवार गांजा तस्कर को पकड़ा

Vt News

राजधानी लखनऊ में पिछले 24 घंटों के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी समेत 500 नए पॉजिटिव केस पाए गए

Vt News

योगी आदित्यनाथ सरकार ने राजधानी लखनऊ के पुराने हिस्से (पुराने लखनऊ) के विकास के लिए करोड़ों रुपए जारी किए हैं

Vt News