VT News India
Crime Lucknow Uttar Pradesh

नई विवाहिता के पति के मरने के बाद जेठों की उस पर बुरी नज़र, पीड़िता दर दर भटकने को मज़बूर

www.vtnewsindia.com shatakshi singh

टीम वीटी न्यूज़ l क्या क्या अरमान लेकर एक पिता अपनी बेटी को घर से बिदा करता है, शादी के बाद हर लड़की के अपने कुछ अरमान होते है, जिन हांथों में शादी के बाद अभी ठीक से मेंहदी भी नहीं छूटी थी, उस लड़की पर तो ग़मों का पहाड़ ही टूट पड़ा l मामला लखनऊ शहर के गाँधी नगर मोहल्ले का है जिसकी निवासी शताक्षी सिंह की एक साल सात माह पहले शादी हुई थी और दो महीने पहले ही उसके पति की मौत हो गई l उसके बाद ससुराल वालों ने बहु पर कहर ढाना शुरू कर दिया l पूर्व में भी सास ससुर बहु को दहेज़ को ले कर प्रताड़ित किया करते थे तब उसका पति जीवित था और उसका पक्ष लेता रहता था l 3 अगस्त को पति विशाल प्रकाश की मृत्यु सास के कमरे में हुई l उसके बड़े जेठ मोहित श्रीवास्तव उर्फ़ आनंद ने 11 अगस्त की रात तीन बजे करीब कमरे में घुस कर शताक्षी से दुराचार का प्रयास किया l जब ये बात बहु ने अपनी सास मंजुला श्रीवास्तव् को बताई तो वो बोली क्या हुआ हमारे यहाँ पति के मरने के बाद जेठों का हक़ होता है जैसा मेरे लड़के कहते हैं वही करो नही तो तुम्हे घर से निकाल देंगे l ननदें पारुल व् प्रियंका ने भी ये सब गलत बातों का समर्थन किया और नंदोई समीर भटनागर व् विनय कृष्ण श्रीवास्तव भी उनका साथ देते थे l पीडिता ने कहा की मेरे सास ससुर मुझे पूर्व में दहेज़ को लेकर प्रताड़ित करते थे l कहतें थे की तुम लायी ही क्या थी छह सात लाख में कोई शादी होती है l पति के मरने के बाद भी दहेज़ न लाने को ले कर रोज ताने दे कर प्रताड़ित करते थे l अकसर मेरी सास मेरे कमरे में आ कर मुझे गलियां देती थी l ये भी कहती थी की तुम विधवा हो तुझे तो मै सफ़ेद साड़ी ही पह्नाउंगीl l मेरे बीच वाले जेठ विवेक श्रीवास्तव उर्फ़ अमित रोज शराब पी कर मेरे कमरे के सामने उलटे सीधे अश्ल्लील इशारे करते थे l मेरे ससुर कहते थे कमरा बंद कर के नही रहोगी l मैंने अपने सास, ससुर व जेठों की गलत बातें नहीं मानी l फिर 15 अगस्त को मेरे पति की तेरहीं होने के बाद 17 अगस्त को मेरे पिता को बुलाकर ये कह कर मायके भेजा की इसकी तबियत ठीक नही इसे ले जाइए और इलाज करिए खून की कमी भी है बाद में बुला लेंगे l दिनांक 04 अगस्त को मेरे पति के मोबाइल पर मैसेज आया कि अकाउंट से 2.30 लाख के लिए होल्ड हटा दिया गया है l जबकि मेरे पति की मृत्यु 03 अगुस्त को हुई थी l
फिर 25-08-2020 को एक और मैसेज आया की पति के स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया शाखा कैसर बाग के खाते से रु0-2.31 लाख मेरे ससुराल वालों मुझे बताये बिना ही निकाल लिए l मेरे पति के मकान, एफ डी व् इंश्योरेंस आदि से सम्बंधित सभी कागजात मेरे ससुर ने अपने कब्ज़े में ले रखे हैं l सास ससुर गाँधी नगर के मकान में ताला बंद करके अपने दूसरे मकान निराला नगर में जा कर रहने लगे l

1 सितम्बर को मेरी सास अपने पहले गाँधी नगर वाले मकान में आयीं l मुझे मालूम चला तो मै अपने कुछ कपडे लेने घ्रर गयी तो सास चिल्लाने लगी यहाँ क्या करने आई हो अब तुम्हारा यहाँ कुछ नही रखा है तो मै वापस अपने मायके चली आई l  17 सितम्बर को मेरे ससुर श्री विष्णु प्रकाश सिंह ने फ़ोन करके बुलाया की आज पित्तर पक्ष का आखिरी दिन है विशाल की पूजा होनी है मायके क्या कर रही यहाँ आओ l थोड़ी देर बाद सास का भी फ़ोन आया और बोली घर में बहुत काम है जल्दी आओ, अपने पति का श्राद नही करोगी l मै अपने पति को बहुत प्रेम करती थी पूर्व की बातों को नज़रंदाज़ करके उनकी श्राद के लिय फिर मै ससुराल गयी दिन भर घर का काम काज किया l उसी दिन 04 बजे मेरे बड़े जेठ मोहित श्रीवास्तव उर्फ़ आनंद ने बाथरूम के पास मुझे दबोच लिया तब भी वो नशे में थे मैंने झिड़क कर पीछे धकेल कर अपने कमरे में आ कर भीतर से दरवाजा बंद कर लिया l फिर मैंने अपने पिता को बात करने के लिए बुलाया l शाम को 06 बजे के लगभग मेरे पिता कुछ रिश्तेदारों के साथ ससुराल आये और सास ससुर से बेटी के बारे में बताया तो वो उल्टा सीधा बोलने लगे l जब पूर्व में सास का गलत कहा नही माना तब सास ससुर नया फरमान सुनाया की अगर बहु यहाँ रहेगी तो मेरे हिसाब से रहना होगा l मुझे वहां ख़तरा लगा क्यूकि मेरे दोनों जेठ बुरी तरह से शराब पिए हुए थे और मेरी सुरक्षा खतरे में थी l मै वहां से पिता के साथ मायके आ गयी l 22 सितम्बर को मेरे ससुर ने मेरे पति की मोटर साइकिल को मुझे बताए बिना किसी को बेंच दी l जिसकी जानकारी मुझे हुई l और मुझे मेरे ससुराल वाले गाँधी नगर वाले घर में और न ही मेरे पति के फ्लैट में जो मेरे पति विशाल प्रकाश सिंह के नाम से दर्ज है, में नहीं आने दे रहे हैं l मुझे धमकी दे रहे हैं कि यदि तुमने पुलिस आदि में कहीं शिकायत की तो अच्छा नही होगा l पीडिता शताक्षी सिंह अपने पति मरने का बाद अब न्याय के लिए दर दर भटक रही l

Related posts

सात IAS और 12 IPS के ट्रांसफर , योगी सरकार ने किया बड़ा प्रशासनिक बदलाव

Vt News

एसएसपी ने मंडुआडीह के दो पुलिसकर्मियों पर रिश्वतखोरी का मुकदमा दर्ज कराया

Vt News

यूपी में कोरोना के 933 नए मामले, कुल संख्या 28 हजार के पार, 809 की मौत

Vt News