VT News India
Others

तीन करोड़ से अधिक का कराया काम, बकाया मांगने पर जान से मारने की दी धमकी

वाराणसी। परियोजनाओं को समय से पूरा करने की लाख हिदायतों के बाद भी व्यवस्थाएं इस कदर मकडज़ाल में उलझी हैं कि आमजन को उसका लाभ मिलना लगभग नामुमकिन सा हो गया है। ऐसा ही कुछ हाल पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय में बन रहे 50 बेड के महिला अस्पताल का है। कार्यदायी एजेंसी के लिए काम करने वाले सब-कांटैक्टर्स ने काम कराने के बाद भुगतान न करने व जान से मारने की धमकी का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को कैंट थाने में तहरीर दी है।कई बार अस्पताल के निर्माण कार्य पूरा करने की अंतिम तिथि मुकर्रर की गई, लेकिन आज तक अस्पताल का काम पूरा नही हो सका है। अस्पताल अभी भी निर्माणाधीन प्रक्रिया में है और अब तक कई प्रकार की अनियमितता के मामले भी सामने आ चुके हैं। कार्यदायी एजेंसी दुग्गल एसोसिएट पर वित्तीय लेन-देन को लेकर अनियमितता के पहले भी आरोप लगते रहे हैं। इसी तरह का एक आरोप आरएस कंस्ट्रक्शन इंटरप्राइजेज के रमित वर्मा ने भी लगाया है। कैंट थाने में तहरीर देते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि दुग्गल एसोसिएट ने लिखित रूप से अनुबंध करते हुए कार्य पूरा करने का आदेश निर्गत किया था। समय-समय पर भुगतान करने का आश्वाशन भी दिया था। तीन करोड़ से अधिक का काम करने के बाद भी कंपनी द्वारा कोई भुगतान नहीं किया गया। वहीं जब बकाए की राशि मांगी गई तो कंपनी के रियाज सैफी व राजीव तिवारी ने बिहार के एक माफिया का नाम लेते हुए हत्या करवाने की धमकी दी। उसके पश्चात कंपनी द्वारा उनके सामान को जब्त कर लेबर व मजदूरों को साइट से भागा दिया गया।जबकि मुख्यमंत्री, मंडलायुक्त, जिलाधिकारी सहित कई आला अधिकारी निर्माणाधीन अस्पताल का निरीक्षण कर इसे जल्द से जल्द पूरा करने का निर्देश दे चुके है। अभी हाल में हुई समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने अक्टूबर तक अस्पताल का निर्माण कार्य पूरा करने का निर्देश दिया था। प्रभारी निरीक्षक कैंट राकेश सिंह के अनुसार मामले में तहरीर प्राप्त हुई है। जांच कराने के बाद उचित कार्यवाही की जाएगी।

Related posts

अशिंका की नृत्यांजलि ने दुर्गोत्सव में किया “जगत जननी मां को नमन”

Vt News

Vt News

गंगानदी में डूबे 05 लोगों में से 3 को बचाया गया, 02 की तलाश जारी*। *जिलाधिकारी ने गंगा घाट पर पहुंच कर परिजनों को दी सांत्वना।* रिपोर्ट कपिल दीक्षित

Vt News