VT News India
Others

उत्तर प्रदेश सरकार को नहीं है तुलसी जन्म स्थान निर्धारित करने का हक -भूपेश शर्मा

उत्तर प्रदेश सरकार को नहीं है तुलसी जन्म स्थान निर्धारित करने का हक -भूपेश शर्मा

मुख्यमंत्री द्वारा राजापुर को तुलसी जन्म स्थान वता कर की गई विकास की घोषणाओं का पर जताया कड़ा एतराज

सोरों उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 30 अक्टूबर को चित्रकूट महर्षि वाल्मीकि के आश्रम की पूजा अर्चना के बाद एक बड़ा ऐलान किया है जिसमें उन्होंने चित्रकूट को पर्यटन स्थल पर चमकाने के साथ-साथ महर्षि बाल्मीकि के जन्म स्थान और महाकवि गोस्वामी तुलसीदास के जन्म स्थान राजापुर को बताते हुए विकास की कई घोषणाएं की थी इस पर सोरों शूकर क्षेत्र बाशिंदों ने कड़ा एतराज जताते हुए पत्र और सोशल मीडिया के माध्यम से अपना विरोध दर्ज कराया है मुख्यमंत्री के नाम भेजे हुए पत्र में अखंड आर्यावर्त निर्माण संघ अध्यक्ष भूपेश शर्मा ने बताया कि उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री द्वारा राजापुर को तुलसी जन्म स्थान बताया जाना बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण का निराशाजनक है क्योंकि वह एक बड़े प्रदेश के मुखिया के साथ साथ एक बड़े संत भी हैं हिंदू धर्म के पुराणों और अंग्रेजी शासन काल के गजेटीयरो में यह साफ लिखा है कि महाकवि गोस्वामी तुलसीदास का जन्म स्थान कासगंज जिले सोरों शूकर क्षेत्र नामक स्थान पर है उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार को अपने इस विवादित निर्णय पर एक बार पुनः विचार करना चाहिए क्योंकि तुलसी जन्म स्थान निर्धारित करने का हक विद्वान और इतिहासकारों को है ना कि उत्तर प्रदेश सरकार को उन्होंने बताया किचित्रकूट के राजापुर का विकास कराइए हमें कोई एतराज नहीं अगर राजापुर तुलसी जन्म स्थान बता कर कोई भी विकास योजना का शुभारंभ किया गया तो निश्चित रूप से शूकर क्षेत्र सोरों के बाशिंदे आप के निर्णय के खिलाफ एक बड़े आंदोलन के लिए विवश होना पड़ेगा जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश सरकार की होगी

Related posts

अपर पुलिस अधीक्षक आदित्य वर्मा ने आज गणतंत्र दिवस मासूम बच्चों के साथ मनाया*

Vt News

Vt News

Vt News