VT News India
National

विधानसभा में शपथ ग्रहण के वक्‍त अड़े AIMIM विधायक

पटना ।17वीं बिहार विधान सभा के पहले ही दिन शपथ ग्रहण समारोह के दौरान असदुउद्दी ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम के पांच विधायकों ने अपने तेवर दिखाए । विधायकों ने शपथ पत्र में लिखे हिंदुस्‍तान शब्‍द पर आपत्ति की और  हिंदुस्‍तान की जगह भारत बोलने पर अड़े। इस पर बीजेपी विधायक ने कहा जो हिंदुस्‍तान नहीे बोल सकते उन्‍हें पाकिस्‍तान चले जाना चाहिए।

बिहार विधानसभा में नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाई जा रही है, लेकिन असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम के विधायक ने शपथ के दौरान हिंदुस्तान शब्द के इस्तेमाल से इन्कार कर सदन में असहज स्थिति पैदा कर दी। विधायक अख्तरुल इमान ने उर्दू भाषा में शपथ ली और इस दौरान हिंदुस्तान के बदले भारत शब्द का इस्तेमाल किया।अख्तरुल का नाम जैसे ही शपथ के लिए पुकारा गया, उन्होंने हिंदुस्तान शब्द पर आपत्ति जता दी। उन्हें उर्दू में शपथ लेनी थी। प्रोटेम स्पीकर जीतनराम मांझी से उन्होंने हिंदुस्तान के बदले भारत शब्द बोलने की अनुमति मांगी। उन्होंने कहा कि हिंदी भाषा में शपथ लेते वक्त भारत के संविधान शब्द का प्रयोग किया जाता है। मैथिली भाषा में भी यही शब्द आता है, लेकिन उर्दू में शपथ के लिए जो प्रपत्र दिया गया है, उसमें भारत के बदले हिंदुस्तान लिखा गया है। अख्तरुल ने कहा कि वह भारत के संविधान के नाम पर शपथ लेंगे, न कि हिंदुस्तान के संविधान के नाम पर।

आग्रह पर भी नहीं माने

हालांकि अख्तरुल की आपत्ति पर प्रोटेम स्पीकर जीतनराम मांझी ने कहा कि ऐसा पहली बार तो हो नहीं रहा है। पहले भी उर्दू भाषा में शपथ के प्रपत्र में भारत की जगह हिंदुस्तान ही लिखा रहता था। दोनों नाम में शब्दों के अलावा और कोई फर्क भी नहीं है। मांझी के आग्रह का भी अख्तरुल पर कोई असर नहीं पड़ा और वह हिंदुस्तान के बदले भारत शब्द के उच्चारण पर ही अड़े रहे।

शुरू हुई बयानबाजी

अख्तरउल इमाम की इस टिप्पणी ने शपथ के बाद तूल पकड़ लिया। भाजपा विधायकों ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की। पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक प्रमोद कुमार ने कहा कि ऐसे लोगों को पाकिस्तान भेज देना चाहिए। अगर हिंदुस्तान शब्द बर्दाश्त ही नहीं तो फिर यहां उन्हें यहां रहने का कोई हक नहीं। अख्‍तरुल इमाम के विवादित बोल के बाद विधान सभा परिसर में बीजेपी विधायक नीरज बबलू ने कहा – यह गलत नियति है। गलत परंपरा है। जो लोग हिंदुस्‍तान नहीं बोल सकते, उन्‍हें हिंदुस्‍तान में नहीं रहना चाहिए। ऐसे लोगों को पाकिस्‍तान चले जाना चाहिए।

बोले अख्‍तरूल

शपथ ग्रहण के बाद पत्रकारों से बातचीत के क्रम में अख्तरउल इमाम ने कहा कि भारत शब्द के अनुवाद पर उनका विरोध था। इसके अतिरिक्त कोई और मसला नहीं था। वहीं उर्दू में शपथ की जो कॉपी दी जाती है वह बेहतर नहीं होती है। कागज और उसकी टाइपिंग भी स्तरीय नहीं होती।इसके पहले पूर्व सांसद आंनद मोहन के बेटे चेतन आनंद ने अंग्रेजी में और रामप्रीत पासवान ने मैथिली में शपथ ली।  पहले दिन 122 और दूसरे दिन 123 विधायकों को शपथ दिलाई जाएगी। जिन विधायकों का नंबर मंगलवार को आएगा उन्हें सेंट्रल हॉल में प्रवेश के पहले ही वापस कर दिया गया।

Related posts

नवरात्र के दौरान दिल्ली में आतंकी का भंडाफोड़,यूपी, दिल्ली, महाराष्ट्र व अन्य राज्यों में थी ब्लास्ट की योजना

VT News

स्किन-टू-स्किन कान्टैक्ट के बिना भी माना जाएगा यौन उत्पीड़न, सुप्रीम कोर्ट

VT News

कंगना रनौत ने कहा , गालियां दीं, दफ्तर तोड़ा… पीओके से मुबई की तुलना सही थी

Vt News