VT News India
Varanasi

भेलूपुर जलकल से क्लोरीन गैस का रिसाव, कई बहोश

वाराणसी। सोमवार की शाम भेलूपुर स्थित जलकल से क्लोरीन गैस का रिसाव होने से हड़कंप मच गई। लोग घरों से निकल कर बाहर भागने लगे। सांस लेने में दिक्कत और गले में दर्द से कई लोग बेहोश हो गए। बेहोश लोगों को किसी तरह कुछ लोगों ने साहस दिखाकर घटनास्थल से काफी दूर किया। एम्बुलेंस बुलाकर उन्हें कबीर चौरा स्थित मंडलीय अस्पताल भेजा गया। अधिकारियों के साथ पहुंची फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने पानी के साथ केमिकल का छिड़काव शुरू कर पूरे हालात को संभालने की कोशिश की। बताया जाता है कि शाम करीब सवा सात बजे जलकल में लगे एक टन के क्लोरीन गैस सिलेंडर से रिसाव शुरू हुआ। सबसे पहले संस्थान परिसर में रह रहे कर्मचारियों और अधिकारियों के परिवार को गैस लीकेज का अहसास हुआ। लोगों को सांस लेने में दिक्कत हुई तो चीख पुकार मची। लोग मुंह पर कपड़ा रखकर संकुल धारा पोखरे की तरफ भागने लगे।

कुछ ही देर में गैस का असर आसपास बड़े इलाके में होने लगा। इससे संस्थान की बाउड्री से सटकर रहने वालों में अफरातफरी मच गई। लोगों का दम घुटने लगा तो अधिकारियों और पुलिस को फोन घनघनाना शुरू किया। कोई कुछ भी नहीं समझ पा रहा था कि हुआ क्या है। इसी बीच कुछ लोग सांस लेने में दिक्कत के कारण भाग नहीं सके और सड़क पर ही बैठ गए। कुछ लोग बेहोश होकर गिर गए। आसपास के लोगों ने पानी का छिड़काव शुरू किया। बेहोश हो रहे लोगों पर भी पानी डालकर उन्हें होश में लाने की कोशिश की गई।

अधिकारियों ने तत्काल भेलूपुर की तरफ जाने वाले रास्तों को ब्लाक कर दिया। फायर ब्रिगेड की गाड़ियां और एम्बुलेंस मौके पर पहुंच गई। बेहोशी की हालत में सबसे पहले लक्ष्मण सोनकर, भरत सोनकर नामक दो भाइयों और नारायण सोनकर और कैलाश को कबीरचौरा अस्पताल भेजा गया। अन्य लोगों को खोज-खोजकर कर मौके पर ही इलाज शुरू हुआ। घटना के करीब सवा घंटे बाद तक भेलूपुर कमच्छा मार्ग पर क्लोरीन गैस महकती रही। मौके पर जलकल के जीएम और सचिव भी पहुंच गए। कर्मचारियों ने सुरक्षाकवच के साथ सबसे पहले लीकेज को बंद किया। इसके बाद फायर ब्रिगेड की गाड़ी से पानी और केमिकल का छिड़काव शुरू किया गया।

Related posts

11 माह बाद स्कूल पहुंचे नौनिहाल

VT News

पति ने पत्नी को मारा चाकू, ग्रामीणों ने जमकर धुनाई कर सौपा पुलिस को

VT News

पत्नी मायके चली गयी तो युवक ने फांसी लगाकर दी जान

VT News