VT News India
Entertainment

तू महान है, तू विशाल है

www.vtnewsindia.com bhole nath

आप जानते हो कि सावन का महीना चल रहा है और सावन का महीना शिव जी का विशेष है इसलिए आपके सामने एक शिव जी की कविता लेकर आया हूं-
तू महान है तू विशाल है।
शिव शंकर तेरा नाम है।।
तू वियाख्त है तू अपार है ।
तेरी महिमा बड़ी महान है।।
कण-कण में तू बिराजता।
कैलाश पर्वत तेरा निवास स्थान है।।
भक्त तुम्हें है पुकारते।
कोई शिव कहे ,कोई भोलेनाथ है।।
त्रिनेत्र तुम्हारा नाम है।
त्रिनेत्र से ये व्याख्याता है।।
जीवनसाथी तुम्हारी है पार्वती।
तो बच्चे कार्तिक गणेश है।।
त्रिशूल, धनुष, डमरु ये ।
अस्त्र तुम्हारे खास है।।
भस्म तो अंग लगात हैं ।
सिंह की खाल से तन ढके।।
जटा में गंगा विराजती।
जटाधारी तेरा नाम है।।
गल मे नाग विराजते ।
शीश पर चंद्रमा विराजमान है।।
क्रोध तुम्हें जब आत हैं ।
त्रिनेत्र तेरे खुल जात हैं।।
उसका तू दुख हर लेता है।
जो शरण तेरी चरणो मे लेता है।।
जो जपता तुझे निरंतर है ।
उसका तो बेड़ा पार है।।
तू अविनाश हैं, तू अविनाशी हैं ।
चरणो में तेरे सब दास दासी है।।
तीनो लोक का स्वामी सदा ।
ये जगत तेरा गुण गाता है।।
लय ,प्रलय दोनों ही सदा ।
शिव तेरे ही अधीन है।।
देवों के देव महादेव सदा महाकाल तेरा नाम है ।
शिप्रा किनारे महाकाल हैं
तो पर्वतों पर केदारनाथ है।।
सुनले जरा सुनले जरा
दीनदयाल शिव हो सदा।
जानता तू जानता
संकट प्रभु वर्तमान का।।
महामारी ने जन्म लिया कोरोना जिसका नाम है।
इस संकट को तू टाल दे
प्रिय मेरे शिव सदा ।।
कार्तिक तेरा गुण गाता हैं।
तू महान है तू विशाल है।।

लेखक:कार्तिक शर्मा

Related posts

आजका राशिफल ज्योतिषाचार्या कीर्ति गुप्ता के साथ

Vt News

आजका राशिफल ज्योतिषाचार्या कीर्ति गुप्ता के साथ

Vt News

आज “टीम 18” के प्रमुख स्तंभ विकास सिंह का धूमधाम से मनाया गया जन्मदिन

Vt News