VT News India
Education

10वीं/12वीं के अंकों से असंतुष्ट छात्रों के पास हैं ये विकल्प

नई दिल्ली ।केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा इस वर्ष की सेकेंड्री कक्षाओं की बोर्ड परीक्षाओं की घोषणा आज कर दी गयी। छात्रों के परिणाम बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट, cbse.nic.in, cbseresults.nic.in और results.nic.in पर जारी किये गये। इसके साथ ही, सीबीएसई ने छात्रों की मार्कशीट, पास सर्टिफिकेट, माइग्रेशन सर्टिफिकेट, आदि को भारत सरकार के डिजिलॉकर ऐप्प के माध्यम उपलब्ध कराया है, जहां से छात्र अपनी अंक तालिका और प्रमाण-पत्रों की डिजिटल हस्ताक्षर वाली प्रति डाउनलोड कर सकते हैं। डिजिलॉकर को छात्र गूगल प्ले-स्टोर और आईओएस के ऐप्प स्टोर से डाउनलोड करके, अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और रोल नंबर की मदद से लॉगिन करके अपनी अंक तालिका एवं प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। छात्रों को ध्यान देना चाहिए कि डिजिलॉकर से डाउनलोड की गयी मार्कशीट, सर्टिफिकेट, आदि को प्रवेश परीक्षाओं और सरकारी नौकरी आवेदन में संलग्न किया जा सकता है। हालांकि, छात्रों को उनकी फिजिकल मार्कशीट एवं सर्टिफिकेट सम्बन्धित स्कूल द्वारा खुलने के बाद दी जाएगी।

वहीं, दूसरी तरफ सीबीएसई सेकेंड्री और सीनियर सेकेंड्री बोर्ड परीक्षा परिणामों से असंतुष्ट छात्र निराश भी होंगे। यदि छात्र अपने किसी विषय या कुछ विषयों या सभी विषयों में मिले प्राप्ताकों के असंतुष्ट होते हैं तो वे केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा उपलब्ध कराये विभिन्न विकल्पों को अपनाकर अपने प्राप्तांकों का सत्यापन कर सकते हैं। इन विकल्पों में मार्क्स वेरिफिकेशन, री-वैल्यूएशन और आंसरशीट फोटोकॉपी है।

सीबीएसई बोर्ड मार्क्स वेरिफिकेशन की प्रक्रिया के अंतर्गत छात्रों को 17 जुलाई 2020 से 21 जुलाई 2020 के बीच बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर पाएंगे। हालांकि, इसके लिए छात्रों को प्रति विषय 500 रुपये का शुल्क जमा करना होगा।

इसी प्रकार छात्र अपने मार्क्स के रिवैल्यूएशन के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं। आवेदन की प्रक्रिया 6 अगस्त 2020 को ऑनलाइन शुरु होगी और अगले दिन 7 अगस्त 2020 को शाम 5 बजे कर ओपेन रहेगी।

छात्र इनके अतिरिक्त अपनी आंसर शीट की फोटोकॉपी भी प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए भी उन्हें सीबीएसई बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन अप्लाई करना होगा। आंसर शीट की फोटोकॉपी के लिए आवेदन 1 अगस्त से 2 अगस्त 2020 तक किया जा सकेगा। छात्रों को प्रति आंसर शीट 700 रुपये का शुल्क भी जमा करना होगा, जिसका भुगतान वे ऑनलाइन माध्यमों से कर पाएंगे।

हालांकि, छात्रों को ध्यान देना चाहिए कि उनके प्राप्तांक मार्क्स वेरिफिकेशन या री-वैल्यूएशन के कारण बढ़ने की बजाय घट भी सकते हैं और छात्रों को बोर्ड द्वारा दिये गये नये नंबरों को ही स्वीकार करना होगा। बोर्ड द्वारा नये नंबरों के साथ नई मार्कशीट जारी की जाएगी।

Related posts

स्वर्गीय गोपालदास ‘नीरज’ की द्वितीय पुण्यतिथि के अवसर पर हेल्प यू एजुकेशनल एंड चैरिटेबल ट्रस्ट के प्रबंध न्यासी हर्ष वर्धन अग्रवाल का सन्देश

Vt News

पीएम-किसान योजना: 9 करोड़ से अधिक परिवारों के खाते में PM मोदी भेजेंगे 18 हजार करोड़ से ज्यादा की रकम

Main_Admin7688

नेताजी सुभाष चंद्र बोस महिला कालेज में वेबिनार का आयोजन

Vt News